70-हजार-लोगों-को-मिली-सरकारी-नौकरी-नरेंद्र-मोदी-ने-दिए-ऑफर-लेटर

वैसे तो आज के समय मे सरकारी नौकरी बहुत ही कम निकल रही हैं वहीं देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 70 हजार लोगों को सरकारी नौकरी ने नियुक्ति पत्र वितरित किए। आइए जानते हैं की मामला आखिर है क्या?

दरअसल, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राष्ट्रीय रोजगार मेले को संबोधित किया और विभिन्न सरकारी विभागों और संगठनों में नवनियुक्त भर्ती के लिए लगभग 70,000 नियुक्ति पत्र वितरित किए। देश भर से चयनित भर्तियां वित्तीय सेवा विभाग, डाक विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, उच्च शिक्षा विभाग, रक्षा मंत्रालय, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय सहित विभिन्न विभागों में सरकार में शामिल होंगी। परमाणु ऊर्जा विभाग, रेल मंत्रालय, लेखा परीक्षा और लेखा विभाग, परमाणु ऊर्जा विभाग और गृह मंत्रालय, अन्य। प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान देश भर के 43 स्थान रोजगार मेले से जुड़े थे।

Narendra-Modi-distributed-70-thosands-offer-letters
Narendra-Modi-distributed-70-thosands-offer-letters

सभा को संबोधित करते हुए, प्रधान मंत्री ने ने कहा की, कि राष्ट्रीय रोज़गार मेला वर्तमान सरकार की नई पहचान बन गया है क्योंकि आज 70,000 से अधिक व्यक्तियों को भर्ती पत्र सौंपे जा रहे हैं। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की कि भाजपा और राजग शासित राज्य भी नियमित रूप से इसी तरह के रोजगार मेले आयोजित कर रहे हैं। यह देखते हुए कि आजादी का अमृत काल अभी शुरू हुआ है, श्री मोदी ने कहा कि यह उन लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण क्षण है जो सरकारी सेवा में शामिल हो रहे हैं क्योंकि उनके पास अगले 25 वर्षों में भारत को एक विकसित देश बनाने में योगदान देने का अवसर है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “वर्तमान के साथ-साथ आपको देश के भविष्य के लिए सब कुछ देना होगा।” श्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर नवनियुक्त रंगरूटों और उनके परिवार के सदस्यों को बधाई दी।

प्रधानमंत्री ने अर्थव्यवस्था में रोजगार और स्वरोजगार के उभरते अवसरों के बारे में बात की। उन्होंने मुद्रा योजना, स्टार्टअप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया जैसे उपायों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अब ये युवा जॉब क्रिएटर बन रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं को सरकारी नौकरी दिलाने का अभियान अभूतपूर्व है। एसएससी, यूपीएससी और आरआरबी जैसे संस्थान नई व्यवस्था के साथ ज्यादा नौकरियां दे रहे हैं। ये संस्थान भर्ती प्रक्रिया को सरल, पारदर्शी और आसान बनाने पर ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने भर्ती के समय चक्र को 1-2 साल से घटाकर कुछ महीने कर दिया है।

रोजगार मेला का लाइव विडिओ ट्विटर पर श्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट पर उपलब्ध है जिसे आप ट्विटर सीधे जाकर देख सकते हैं।

Narendra-Modi-distributed-70-thosands-offer-letters-on-June-13
Narendra-Modi-distributed-70-thosands-offer-letters-on-June-13

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि एक दशक पहले की तुलना में भारत अधिक स्थिर, सुरक्षित और मजबूत देश है। उन्होंने उस समय को याद किया जब पहले के समय में घोटाला और जनता का दुरुपयोग शासन की पहचान थी। “आज, भारत अपनी राजनीतिक स्थिरता के लिए जाना जाता है जो आज की दुनिया में बहुत मायने रखता है। आज भारत सरकार की पहचान एक निर्णायक सरकार के रूप में है। आज, सरकार अपने प्रगतिशील आर्थिक और सामाजिक निर्णयों के लिए जानी जाती है”, उन्होंने कहा। वैश्विक एजेंसियां ईज ऑफ लिविंग, इंफ्रास्ट्रक्चर बिल्डिंग और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में काम को स्वीकार कर रही हैं।

उन्होंने दोहराया कि भारत ने अपने भौतिक और सामाजिक बुनियादी ढांचे में भारी निवेश किया है। सामाजिक बुनियादी ढांचे की बात करते हुए, प्रधान मंत्री ने जल जीवन मिशन के माध्यम से सुरक्षित पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने का उदाहरण दिया। उन्होंने बताया कि जल जीवन मिशन पर करीब चार लाख करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। इसकी स्थापना के समय से, जब औसतन 100 ग्रामीण आवासों में से 15 में पाइप से पानी पहुँचाया जाता था, अब यह संख्या प्रति 100 घरों में से 62 हो गई है। और काम तेजी से चल रहा है। 130 जिले ऐसे हैं जहां हर घर में पाइप से पानी पहुंचाने की पूरी व्यवस्था है। इसके परिणामस्वरूप समय की बचत होती है और कई जलजनित रोगों से मुक्ति मिलती है।

अध्ययनों से पता चला है कि साफ पानी ने लगभग 4 लाख डायरिया से होने वाली मौतों को रोका है और लोगों के 8 लाख करोड़ रुपये की वित्तीय बचत की है जो पानी के प्रबंधन और बीमारियों के इलाज में खर्च किए गए थे। उन्होंने प्रत्याशी से सरकारी योजनाओं के गुणक प्रभाव को समझने को कहा। श्री नरेंद्र मोदी ने भर्ती प्रक्रिया में वंशवाद की राजनीति और भाई-भतीजावाद की बुराइयों के बारे में बात की। प्रधान मंत्री ने ‘नौकरी के लिए नकद घोटाले’ के मुद्दे पर प्रकाश डाला, जो कि एक राज्य में सामने आया है और युवाओं को इस तरह की प्रणाली के बारे में चेतावनी दी है। सामने आए विवरणों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि किस तरह हर जॉब पोस्टिंग के लिए एक रेस्त्रां में मेन्यू कार्ड के समान एक रेट कार्ड तैयार किया जाता था।

70-हजार-लोगों-को-मिली-सरकारी-नौकरी-नरेंद्र-मोदी-ने-दिए-ऑफर-लेटर
70-हजार-लोगों-को-मिली-सरकारी-नौकरी-नरेंद्र-मोदी-ने-दिए-ऑफर-लेटर

उन्होंने ‘नौकरियों के लिए भूमि घोटाले’ पर भी प्रकाश डाला, जहां देश के तत्कालीन रेल मंत्री ने नौकरी के बदले में जमीन का अधिग्रहण किया था और टिप्पणी की कि मामले की जांच सीबीआई द्वारा की जा रही है और अदालतों में लंबित है। प्रधानमंत्री ने ऐसे राजनीतिक दलों के युवाओं को चेताया जो वंशवाद की राजनीति करते हैं और नौकरी के नाम पर देश के युवाओं को लूटते हैं। “एक तरफ हमारे पास राजनीतिक दल हैं जो नौकरियों के लिए रेट कार्ड पेश करते हैं, दूसरी तरफ यह वर्तमान सरकार है जो युवाओं के भविष्य की रक्षा कर रही है। अब देश तय करेगा कि युवाओं का भविष्य रेट कार्ड से चलेगा या सेफगार्ड से।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अन्य राजनीतिक दल भाषा के नाम पर लोगों को बांटने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि सरकार भाषा को रोजगार का सशक्त माध्यम बना रही है। उन्होंने कहा कि मातृभाषा में भर्ती परीक्षाओं पर जोर देने से युवाओं को फायदा हो रहा है। प्रधानमंत्री ने रेखांकित किया कि आज के तेज गति वाले भारत में सरकारी तंत्र और सरकारी कर्मचारियों के काम करने के तरीके तेजी से बदल रहे हैं। उन्होंने उस समय को याद किया जब देश के आम नागरिक सरकारी दफ्तरों में जाया करते थे जबकि आज सरकार घर-द्वार तक अपनी सेवाएं पहुंचाकर नागरिकों के घर पहुंच रही है। उन्होंने कहा कि जनता की अपेक्षाओं और उस क्षेत्र की जरूरतों को समझने के लिए काम किया जा रहा है जहां सरकार है

अधिक एवं लैटस्ट जानकारी के लिए हमारे WhatsApp चैनल को जॉइन करें। क्लिक करें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हाल ही में लिखा

HindiTreasure.com

Discover more from HindiTreasure.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading