मोगरा (Arabian Jasmine) की जानकारी, फायदे

आइए दोस्तों जानते हैं मोगरा फूल के बारे में। सबसे पहले तो मैं आपको यह बता देता हूं कि इसे मोगरे नहीं मोगरा कहा जाता है।

यह एक फूल होता है जो बेहद ही सुगंधित होता है या खुशबूदार होता है जिसे लोग अपने घरों में उगाना पसंद करते हैं और इन फूलों को भगवान के चरणों में भी अर्पित किया जाता है। इस फूल से किसी भी तरीके का कोई नुकसान नहीं होता है, यह कांटेदार नहीं होता है।

मोगरा शब्द एक हिंदी शब्द है जिस का अंग्रेजी में मतलब होता है अरेबियन जैस्मिन (Arabian Jasmine) एवं इसका वनस्पतिक नाम है Jasminum sambac.

इस फूल की खास बात यह है कि यह छोटे से पौधे के रूप में भी लगता है और एक बैल के रूप में भी लगता है क्योंकि इसकी एक प्रजाति नहीं होती कई प्रजातियां होती हैं मुख्य रूप से इनका जो रंग होता है वह सफेद ही होता है और जिसमें पंखुड़ियां होती हैं वह 5 या ज्यादा भी हो सकती हैं या बहुत ज्यादा घना भी हो सकता है।

मोगरा

भारत में

भारत में यह फूल इतना प्रसिद्ध है कि महिलाएं इसका गजरा बनवाकर अपने बालों पर सजाती हैं। बहुत सारी महिलाएं इसके हाथ में कंगन जैसे बनाकर के हाथों में भी पहनती हैं। इस फूल को संस्कृत भाषा में मालती या मल्लिका भी कहा जाता है।

मोगरा के फायदे

आपको पता भी नहीं होगा बहुत सारी दवाइयों में मोगरा फूल का मिश्रण भी होता है लेकिन अगर आप मोगरे से सीधे तौर पर फायदा लेना चाहते हैं तो इसके कुछ फायदे आपको मिल सकते हैं जैसे स्किन से मिली-जुली प्रॉब्लम जैसे खाज-खुजली के लिए यह बहुत फ़ायदेमंद हो सकता है अगर थोड़ा बहुत कट जाए या छिल जाए तो आप उस पर मोगरे की पत्तियों को पीसकर भी लगा सकते हैं।

अगर आपके शरीर पर फोड़े फुंसी हो रहे हैं तो यह फोड़े फुंसी पर भी इन्हें पीसकर या उसका पानी लगा सकते हैं।

Spread the love
Tags:

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *