एक ऐसी सब्जी जो लाख रुपए महिना तक कमा कर दे सकते हैं, जानिए कैसे

आज के इस लेख एन हम एक ऐसी फसल के बारे में जानेंगे जो कई सालों तक पैसा कमा कर देगी। और अगर खेती अच्छी खासी की जाए तो यह आपको लाख रुपए महिना तक कमा कर देगी। जैसे की हम सभी जानते हैं की खेती एक ऐसा काम है जिसमें लगातार प्रयास और धैर्य की आवश्यकता होती है, जिसमें रोपण से लेकर कटाई तक लगातार काम की आवश्यकता होती है। हालाँकि, यदि आप एक ऐसी फसल की तलाश में हैं जो शुरुआती कड़ी मेहनत के साथ कई वर्षों तक मुनाफा दे सके, तो कुंदरू की खेती एक उत्कृष्ट व्यावसायिक अवसर है। एक बार स्थापित होने के बाद, कुंदरू के पौधे लंबे समय तक निरंतर और फलदार फसल देते हैं।

कुंदरू में ऐसी क्या खास बात है?

कुंदरु जिसे अंग्रेजी में Ivy Gourd भी कहते हैं। सबसे बड़ी खास बात तो इसमे यह है की यह लगाने के चार साल तक निरंतर और प्रचुर उपज देता है। कुंदरू को उचित अंतराल पर मेड़ों पर रोपने से इष्टतम विकास के लिए पर्याप्त दूरी सुनिश्चित होती है।

कैसे उगायें कुंदरु?

यह फसल अच्छे जल और वायु संचार वाली रेतीली दोमट मिट्टी में पनपती है। खेती शुरू करने के लिए, मिट्टी को समान रूप से तैयार करने के लिए गहरी जुताई की जाती है। फिर उर्वरता बढ़ाने और आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करने के लिए इसे गाय के गोबर, जैविक खाद और वर्मीकम्पोस्ट से समृद्ध किया जाता है। मिट्टी की नमी के स्तर को बनाए रखने के लिए सप्ताह में कम से कम एक बार नियमित सिंचाई महत्वपूर्ण है।

कुंदरु की खेती के बारे में और अधिक जानकारी

एक ऐसी सब्जी जो लाख रुपए महिना तक कमा कर दे सकते हैं, जानिए कैसे

कुंदरू की एक हेक्टेयर खेती से लगभग 300 क्विंटल उपज हो सकती है, जिसकी बाजार में मजबूत मांग 60 रुपये से 80 रुपये प्रति किलोग्राम के बीच है। थोक विक्रेता अक्सर इसे 40 से 50 रुपये प्रति किलोग्राम पर खरीदते हैं, जिससे पर्याप्त मुनाफा सुनिश्चित होता है। 40 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बिकने वाले 300 क्विंटल के रूढ़िवादी अनुमान के साथ, एक हेक्टेयर से वार्षिक आय 12 लाख रुपये तक पहुंच सकती है। इससे लगभग एक लाख रुपये की मासिक कमाई हो सकती है, जो किसानों के लिए एक आकर्षक और लाभदायक अवसर प्रदान करेगी।

अधिक एवं लैटस्ट जानकारी के लिए हमारे WhatsApp चैनल को जॉइन करें। क्लिक करें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

HindiTreasure.com

Discover more from HindiTreasure.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading