HindiTreasure.com

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें? फीस, नुकसान, फायदे

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें? फीस, नुकसान, फायदे

चलिए जानते है की डिस्टेंस लर्निंग क्या होता है? कैसे बीबीए, एमबीए, बी.टेक, एम. टेक, बीएससी, एमएससी, आदि के लिए पढ़ाई की जा सकती है। इतना ही नहीं डिस्टेंस एजुकेशन की फीस भी कम होती है जबकि रेगुलर कोर्स ज्वाइन करने पर हमें ज्यादा फीस देनी पड़ सकती है। इस लेख पर हम डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें एवं अन्य जानकारी जैसे कितने कोर्स होते है, फीस क्या होती है, डिस्टेंस लर्निंग के फायदे एवं नुकसान, डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन के लिए कैसे अप्लाई करें, आदि जितनी हो सके उतनी जानकारी प्रदान करने की कोशिश करेंगे।

डिस्टेंस लर्निंग क्या होता है?

डिस्टेंस लर्निंग क्या होता है?
छवि स्त्रोत – pixabay.com

डिस्टेंस लर्निंग या डिस्टेंस एजुकेशन को हम करेस्पॉन्डस एजुकेशन से भी जानते हैं। इस तरह के कोर्सेस में स्टूडेंट्स को कहीं जाना नहीं पड़ता है बल्कि वह अपने शहर रहकर दूसरे शहर से अपनी शिक्षा ऑनलाइन पूरी कर सकता है हालाँकि परीक्षा देने के लिए विद्यार्थी को कॉलेज यूनिवर्सिटी जाना पड़ सकता है। पहले जब इंटरनेट नहीं था या बहुत सीमित था तो विद्यार्थी बिना टीचर के या अपने किसी लोकल शिक्षक की सहायता से घर पर किताबों से ही पढ़ लिया करते थे परन्तु बदलते समय ने सुविधाएँ बढ़ा दी हैं एवं घर पर इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन एजुकेशन करना बहुत आसान हो गया है। कोरोना काल में तो रेगुलर छात्रों ने भी ऑनलाइन एजुकेशन पूरी की है एवं परीक्षा भी घर से दी है।

कुछ मामलों में कभी-कभार कॉलेज जाना भी होता है। परन्तु दूसरे शहर में होने पर छात्र स्किप भी कर सकते हैं। माना जाता है की डिस्टेंस लर्निंग या करेस्पॉन्डस पढाई की शुरुआत इंग्लैंड से हुई है।

किन लोगों को डिस्टेंस लर्निंग या ऑनलाइन एजुकेशन के लिए अप्लाई करना चाहिए?

वह लोग जो किसी कारण से कॉलेज नहीं जा सकते वह ऑनलाइन एजुकेशन या डिस्टेंस लर्निंग या डिस्टेंस एजुकेशन की सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

वह सभी लोग जो माँ है या पिता है या अपनी पारिवारिक जिम्मेदारी की वजह से कॉलेज नहीं जा सकते, वह सभी लोग जो जॉब करते हैं, वह सभी लोग जो कम पैसों की वजह से रेगुलर कोर्स ज्वाइन नहीं कर सकते, डिस्टेंस लर्निंग को ज्वाइन कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए स्टूडेंट को अप्लाई करना होगा। अब प्रश्न यह है की कहाँ अप्लाई करना होगा तो इसका उत्तर है यूनिवर्सिटी में या कॉलेज में, जहाँ से ग्रेजुएशन करने का इक्छुक है। सबसे पहली बात यह है की विद्यार्थी जिस यूनिवर्सिटी या कॉलेज में डिस्टेंस एजुकेशन के लिए एडमिशन चाहता है वहां हो भी सकता है नहीं भी क्यूंकि निर्भर सीट पर करता है इसलिए पहले अप्लाई करें या जितने जल्दी हो सके उतना जल्दी करें।

डिस्टेंस लर्निंग के फायदे एवं नुकसान

दुनिया में लगभग सभी कामों के फायदे एवं नुकसान बताएं गए है तो भला ऑनलाइन एजुकेशन के भी बहुत सरे फायदे एवं नुकसान हो सकते हैं जिसके बारे में थोड़ी बहुत चर्चा कर लेते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग के फायदे एवं नुकसान
छवि स्त्रोत – pixabay.com

डिस्टेंस लर्निंग के फायदे

डिस्टेंस लर्निंग से जो बेसिक फायदे हैं वह ऊपर भी कवर किये हुए हैं जैसे कॉलेज न जाना, समय की बचत होना, कम पैसों का खर्चा होना, पढाई के साथ अन्य कार्य भी करना जैसे जॉब या पारिवारिक जिम्मेदारी निभाना आदि।

डिस्टेंस लर्निंग के नुकसान

कुछ फायदे हैं तो डिस्टेंस लर्निंग के नुकसान भी हैं। कुछ लोगों को कॉलेज जाना पसंद हो सकता है क्यूंकि कॉलेज जाने के अपने ही अलग मजे होते हैं परन्तु डिस्टेंस एजुकेशन में नहीं। रेगुलर कोर्स ज्वाइन करने से ज्यादा सिखने को मिलता है, टीचर से सीधे जानकारी प्राप्त की जा सकती है परन्तु डिस्टेंस एजुकेशन में नहीं। फीस जरूर डिस्टेंस एजुकेशन में कम हो सकती है परन्तु कॉलेज में या क्लास में होने वाले प्रोजेक्ट का हिस्सा भी बन सकते हैं, कहने का मतलब सीखने को ज्यादा मिलता है जोकि डिस्टेंस एजुकेशन या लर्निंग में नहीं।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे कर सकते हैं?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है बल्कि गूगल पर खोजने पर कई यूनिवर्सिटी के विज्ञापन देखे जा सकते हैं। अगर आपके शहर के है या आपकी पसंद के यूनिवर्सिटी का प्रमोशन है तो जरूर देखें। डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन के लिए ऑनलाइन जानकारी जुटाना भी बहुत आसान होता है। कहीं जाने की जरुरत नहीं बस सारे काम फ़ोन पर ही पूरे हो जाते हैं।

ऑनलाइन आवेदन देने के लिए आप जिस यूनिवर्सिटी या कॉलेज में दाखिला लेने का सोच रहे हैं तो उसकी वेबसाइट पर जाएं एवं कांटेक्ट अस पेज पर जाकर जानकारी की मांग कर सकते हैं, या इससे भी अच्छा है की बहुत सारे कॉलेज या यूनिवर्सिटी इसके बारे में बताते हैं एवं अलग से लिंक देकर रखते हैं तो उस लिंक पर क्लिक करके अप्लाई कर सकते हैं। कुछ यूनिवर्सिटी या कॉलेज डिस्टेंस एजुकेशन के बारे में जानकारी तो देते हैं परन्तु अप्लाई करने के लिए कॉलेज या यूनिवर्सिटी भी बुला सकते हैं जोकि बहुत कम होता है, कुछ यूनिवर्सिटी या कॉलेज आपका फ़ोन नंबर, नाम, एड्रेस, ईमेल आईडी आदि ले लेते हैं फिर विद्यार्थी को फ़ोन करके पूरी जानकारी दे देते हैं।

डिस्टेंस एजुकेशन के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

ग्रेजुएशन हो या पोस्ट ग्रेजुएशन, दोनों ही आसानी से डिस्टेंस लर्निंग या डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से पूरी हो सकती है। अगर आप किसी बड़े शहर में रहते हैं तो आप कैंपस विजिट कर सकते हैं। वहां जाकर स्टाफ से मिलकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें?
छवि स्त्रोत – pixabay.com

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन अथवा पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए क्या डाक्यूमेंट्स देने पड़ सकते हैं एवं कोई फॉर्म भी भरना पड़ेगा?

ऑनलाइन एजुकेशन या करेस्पॉन्डस एजुकेशन के लिए यूनिवर्सिटी या कॉलेज का फॉर्म तो भरना ही पड़ेगा।

अगर आप ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई करते हैं तो एसएससी (स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट), अपनी 3 या 4 पासपोर्ट साइज फोटो, 12th क्लास की मार्कशीट दिखानी पड़ेगी एवं प्रतियां जमा भी करनी पड़ सकती हैं। इसके साथ ही कोई एड्रेस प्रूफ जैसे आधार कार्ड की छाया प्रति भी मांगी जा सकती है।

किस तरह के कोर्स उपलब्ध है डिस्टेंस लर्निंग में? (Distance Learning Courses)

डिस्टेंस एजुकेशन के लिए स्टूडेंट्स को लगभग सभी प्रकार के कोर्सेज उपलब्ध है जो की ऑफलाइन रहते हैं। ग्रेजुएशन की बात की जाये तो बीकॉम, बैचलर ऑफ़ आर्ट्स, बैचलर ऑफ़ साइंस, बीटेक आदि आसानी से मिल सकते हैं। अगर पोस्ट ग्रेजुएशन के बात की जाये तो एमएससी, एमकॉम, एमटेक, एमबीए एमसीए आदि सभी कोर्सेज उपलब्ध हैं।

दूरस्थ शिक्षा एमबीए (Distance Learning MBA)

डिस्टेंस लर्निंग से एमबीए करना बहुत आसान है। कई यूनिवर्सिटी सिर्फ 1 वर्ष का एमबीए प्रस्ताव रखती हैं। एमबीए मुख्य रूप से वह लोग ज्यादा करते हैं जो किसी जॉब में होते हैं या कुछ अन्य कार्यो में लगे होते हैं। कई यूनिवर्सिटी है जी इन बातों को ध्यान रखते हुए अपना कोर्स बना कर एडमिशन देती हैं।

क्या है डिस्टेंस लर्निंग फीस? कितनी हो सकती है?

हमने लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के वेबसाइट पर जाकर देखा तो पाया की एमबीए की फीस लगभग 12000 प्रति सेमेस्टर है जिस पर एडमिशन फीस, एग्जाम फीस एवं अन्य फीस अलग से हो सकती हैं।

ये बात तो तय है की रेगुलर कोर्स की फीस के मुकाबले डिस्टेंस एजुकेशन की फीस आधी या उसके आसपास होगी। इसके अलावा हमने अन्य यूनिवर्सिटी में फीस से सम्बंधित जाना तो पाया की बीबीए की फीस 10 हजार प्रति सेमेस्टर या इससे भी कम हो सकती है।

डिस्टेंस लर्निंग के लिए कुछ यूनिवर्सिटी या कॉलेज के नाम

वैसे तो बहुत सारे कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी हैं जहाँ से स्टूडेंट ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकता है। हमने इंटरनेट पर कई यूनिवर्सिटी के नाम देखें जिनमे से गूगल ने भी कुछ नामों का सुझाव दिया। जैसे लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, एमिटी यूनिवर्सिटी, मध्य प्रदेश भोज ओपन यूनिवर्सिटी, DY Patil यूनिवर्सिटी, नेताजी सुभास ओपन यूनिवर्सिटी, पेरियार यूनिवर्सिटी (तमिल नाडु में), अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी, आदि बहुत सी यूनिवर्सिटी हैं जहाँ स्टूडेंट्स को आसानी से एडमिशन मिल सकता हैं।