HindiTreasure.com

अमित शाह ने कहा की नीतीश कुमार प्रधानमंत्री की बनने की चाहत में लालू यादव की

अमित शाह ने कहा की नीतीश कुमार प्रधानमंत्री की बनने की चाहत में लालू यादव की

23 सितंबर 2022 को अमित शाह ने बिहार के पूर्णियाँ (Purnia) जिले मे जनता को संबोधित किया एवं नीतीश कुमार एवं लालू प्रसाद यादव पर तीखे वार किए। उन्होंने साफ साफ कह दिया की नीतीश कुमार प्रधानमंत्री की बनने की चाहत रखकर लालू प्रसाद यादव की गोद मे जा बैठे हैं।

अमित शाह ने शुरुआत मे कहा की मेरे आने पर लालू एवं नीतीश की जोड़ी को पेट में दर्द आ रहा है एवं उन्होंने आगे कहा की “वो लोग कह रहे हैं की झगड़ा लगाने आएंगे, कुछ करके जाएंगे”, परंतु उन्होंने आगे फिर कहा की झगड़ा करने के लिए मेरी जरूरत नहीं है।

आमित शाह ने कहा की वर्ष 2014 मे नीतीश कुमार के पास सिर्फ 2 लोकसभा सीट थी। आगे उन्होंने कहा की नीतीश न घर के थे न घाट के।

बीजेपी को धोखा देकर एवं लालू की गोद मे बैठकर स्वार्थ एवं सत्ता की राजनीति का परिचय दिया है एवं इसकी शुरुआत भी यहीं से हुई थी। उन्होंने आगे कहा की नीतीश को राजनीति से संबंधित तरीके नहीं पता है, सत्ता मे रहने के लिए वे किसी भी पार्टी के साथ जुड़ सकते हैं। अमित शाह ने कहा की अपनी कुर्सी बचाने के लिए वे congress के साथ बैठ सकते हैं, आरजेडी का साथ छोड़ बीजेपी जॉइन कर सकते हैं।

अमित शाह ने कहा की लालू-नीतीश की जोड़ी 2024 के सामान्य चुनाव मे ही हार जाएगी एवं 2025 मे पुनः बीजेपी सत्ता मे आएगी। अमित शाह ने कहा की की न लालू प्रसाद यादव की चलेगी न नीतीश कुमार की चलेगी, बिहार मे सिर्फ कमल ही खिलेगा। उन्होंने आगे भी बहुत सी बातें कहीं जैसे की चुनाव जीतने के लिए नीतीश लालू की गोद मे जा बैठे हैं एवं वर्ष 2024 मे प्रधानमंत्री बनने के सपने देख रहें हैं।

इतना ही नहीं, अमित शाह ने आगे कहा की इस तरह से पार्टी बदल लेने से नीतीश कुमार ज्यादा समय नहीं टिक पाएंगे।

बिहार राज्य मे है डर का महोल

अमित शाह ने आगे भी कहा की बिहार राज्य मे इस महागठबंधन सरकार के सत्ता मे आने के बाद पूरे राज्य मे डर का महोल है। बिहार की चिंता जताते हुए उन्होंने कहा की नीतीश रहेंगे तो बिहार मे जंगल राज चलेगा।

परंतु उन्होंने यह आश्वाशन भी दिया की यह सीमावर्ती जिले भारत का भी हिस्सा है, किसी को डरने का जरूरत नहीं है।

लालू यादव को भी किया सतर्क

उन्होंने लालू यादव को भी सतर्क करते हुए कहा की नीतीश कुमार सत्ता मे बने रहने के लिए कल को काँग्रेस का हाथ भी पकड़ सकते हैं।

अमित शाह ने बिहार मे जनता को संबोधित किया और नारा दिया एवं कहा की “आओ चले भाजपा के साथ, करे बिहार का विकास”।